हाइपोथायरायडिज्म: कारण, लक्षण और तथ्य

0
84
हाइपोथायरायडिज्म

हाइपोथायरायडिज्म या अवटु अल्पक्रियता मनुष्यो में होने वाला एक ऐसा रोग है जो थायरॉयड ग्रंथि से थायरॉयड हॉर्मोन के अपर्याप्त उत्पादन के कारण होती है|थायरॉयड ग्रंथि गले के निचले हिस्से में स्थित होती है |

थाइरोइड हॉर्मोन हमारे शरीर में होने वाले विकास और सेलुलर प्रक्रियाओं जैसे मेटाबोलिज्म के लिए जिम्मेदार होते है तभी इसके उत्पादन की कमी के कारण हमारे शरीर का सामान्य कार्य प्रभावित होता है|

हाइपोथायरायडिज्म के कारण

इस विकार के प्रमुख कारण हैं-

हाशिमोटो थयरॉइडीटीएस :

यह हाइपोथायरायडिज्म का सबसे आम कारण है थयरॉइडीटीएस (जो वायरल संक्रमण के कारण होता है) इसके परिणाम स्वरूप थाइरोइड पैदा करने वाली ग्रंथि में सूजन हो जाती है |

आयोडीन की कमी:

नियमित आहार में आयोडीन की कमी के कारण भी हाइपोथायरायडिज्म हो सकता है।

पिट्यूटरी(पियूष) ग्रंथि में चोट

मस्तिष्क की सर्जरी या मष्तिष्क में रक्त की कमी के कारण मष्तिष्क में घाव बन सकता है यह घाव टी.एस.एच(TSH) उत्पादन को कम कर देता है और इस प्रकार टी.एस.एच द्वारा उत्तेजित होने वाली थाइरोइड ग्रंथि के उत्पादन में भी कमी आजाती है |

थायराइड सर्जरी:

कभी-कभी, थायरॉयड हटाने के लिए सर्जरी भी हाइपरथायरायडिज्म का कारण बन सकती है

लक्षण:

इस रोग के कुछ सामान्य लक्षण इस प्रकार हैं-

  • कब्ज
  • रूखी त्वचा
  • मांसपेशियों में ऐंठन
  • थकान
  • डिप्रेशन
  • सामान्य तरीके से  वजन बढ़ना
  • ठंड से असहिष्णुता
  • अत्यधिक निद्रा
  • सूखे , मोटे बाल

हाइपोथायरायडिज्म से संबंधित कुछ मिथक और तथ्य :-

क्या हाइपोथायरायडिज्म केवल बुढ़ापे में ही होता है?

आइये अपने विशेषज्ञ डॉ अरविन्द कुमार से जानते है की क्या हाइपोथायरायडिज्म नमक बीमारी केवल बुढ़ापे में ही होती है या फिर यह भी समाज में फैला एक मिथक है :

जैसा की हमने इस वीडियो इंटरव्यू के माध्यम से जाना यह बीमारी किसी भी उम्र में हो सकती है और यह कहना की यह बीमारी सिर्फ बुढ़ापे में ही होती है गलत है |

क्या हाइपोथायरायडिज्म केवल महिलाओं में ही होता है?

इस बीमारी से जुड़ी दूसरी सबसे बड़ी धारणा है की यह बीमारी केवल महिलाओ में ही होती है |आइये जानते है की इस बात में कितनी सच्चाई है |

जैसा की हमने ऊपर की दोनों वीडियो में जाना की यह बीमारी महिलाओ, पुरुषो और बूढ़े, जवानो सबमे पायी जाती है इसलिए अगर आपको इसके कोई भी प्रारंभिक लक्षण दीखते है तो बिना देर किये अपने नज़दीकी स्वास्थ केंद्र में संपर्क करे और जरुरी जांच कराये|

शेयर करें

कोई टिप्पणी नहीं है

कोई जवाब दें